लव जेहाद के कानून को लेकर कैबिनेट में अध्यादेश पारित ,10 साल की सजा का प्रावधान

उत्तर प्रदेश- योगी आदित्यनाथ सरकार ने राज्य में दिन प्रतिदिन बढ़ रहे लव जेहाद के मामलों को लेकर  लखनऊ में कैबिनेट की मीटिंग कर लव जिहाद को लेकर कड़े कानून बनाने का फैसला लेते हुए गैर कानूनी ढंग से धर्म परिवर्तन को लेकर अध्यादेश भी पारित कर दिया है।

यह अध्यादेश मंगलवार को कैबिनेट की मीटिंग के दौरान पास किया गया।

अध्यादेश के अनुसार दूसरे धर्म समुदाय में विवाह करने के लिए जिलाधिकारी की अनुमति लेनी होगी।  अध्यादेश के मुताबिक दूसरे धर्म मे विवाह करने से दो माह पहले अपने जिले के जिलाधिकारी को लिखित पत्र देना होगा ।

बिना अनुमति लिए धर्म परिवर्तन कर शादी करने पर 6 माह से लेकर 3 वर्ष तक कि सजा और 10 हजार रुपये जुर्माने का प्रावधान है।

पहचान छिपाने पर 10 वर्ष की कैद–

 योगी सरकार द्वारा बनाये गए लव जेहाद के कानून के अंतर्गत कोई व्यक्ति अपना असली नाम छिपाकर शादी करता है तो उसे 10 वर्ष की सजा का प्रवधान है।

इसके अलावा  गैरकानूनी तरह से धर्म स्थानांतरित करने पर 10 साल की सजा हो सकती है । और सामूहिक रूप से धर्म परिवर्तन करने पर 10 साल की सजा और 50 हजार जुर्माना भी देना पड़ सकता है।

Read Also


कैबिनेट मंत्री की इस अध्यादेश पर राय-

योगी सरकार के कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थ सिंह ने मीडिया से मुखातिब होते हुए कहा कि आज उत्तरप्रदेश कैबिनेट ” उत्तर प्रदेश विधि विरुद्ध धर्म समपरिवर्तन प्रतिषेध अध्यादेश” लेकर आई है।

जिससे उत्तर प्रदेश ला आर्डर बनाए रखने और महिलाओं को इंसाफ दिलाने के लिए जरूरी कदम है।

सिद्दार्थ सिंह ने कहा बीते कुछ दिनों में लव जेहाद और धर्म परिवर्तन को लेकर सैकड़ों घटनायें सामने आई हैं ।जिसमे धोखे , छल कपट,और बलपूर्वक धर्म को परिवर्तित किया जा रहा है।

जिस पर कानून को लेकर नई नीति बनी है। जिस पर कोर्ट के आदेश आने पर योगी सरकार की कैबिनेट ने अध्यादेश पारित किया।

Law Trendhttps://lawtrend.in/
Legal News Website Providing Latest Judgments of Supreme Court and High Court

Related Articles

Latest Articles