Kangana Ranaut से कोर्ट में लड़ने के लिए BMC ने खर्च किये 82 लाख रुपए :RTI

(BMC) Bombay Mucipal Corporation  ने अभिनेत्री कंगना रनौत के खिलाफ पैरवी के लिए वकील को 82 लाख रुपये की भारी रकम दी।

सपनो की नगरी मुम्बई की तुलना पाक अधिकृत कश्मीर (POK) से करने वाली बॉलीवुड एक्टर कंगना रनौत के खिलाफ बीएमसी ने कोर्ट की करवाई में लगभग 82 लाख 50 हजार रुपये कोर्ट में खर्च किये हैं ।

यह खुलासा आरटीआई के जरिये हुआ।

बीएमसी के एच वेस्ट वार्ड के अधिकारियों ने कंगना रनौत के बांद्रा स्थित पाली हिला कार्यलय में हुई अवैध निमार्ण पर कार्यवाही की थी। 

जिसके खिलाफ अभिनेत्री ने बॉम्बे हाई कोर्ट से गुहार लगाई थी।

BMC का पक्ष— 

बीएमसी प्रशासन ने बॉम्बे हाई कोर्ट में अपना पक्ष रखने के लिए 82 लाख रुपये खर्च किये है।

बांद्रा के पाली हिल स्थित कंगना रनौत ने अपने घर में मणिकर्णिका फ़िल्म की शुरुआत की थी। 

बीएमसी ने आरोप लगाया है कि आफिस में कंगना ने अवैध रूप से निर्माणकार्य करवाया है।

इसी मामले के दौरान कंगना रनौत ने मुम्बई की तुलना पाक अधिकृत कश्मीर (पीओके) से कर दी जिसका मुम्बई में जमकर विरोध प्रदर्शन हुआ।

बीएमसी प्रशासन ने बीएमसी एक्ट की धारा 354 के तहत कंगना को नोटिस जारी किया था। 

कंगना द्वारा नोटिस का संतोषजनक जवाब न मिलने पर बीएमसी ने उनके कार्यलय के अवैध निर्माण को गिरा दिया था।

कोर्ट के समक्ष मामला–  

अवैध निर्माण ध्वस्त की जाने के बाद कंगना के वकील ने बॉम्बे हाई कोर्ट का रुख किया और मदद की अपील की । 

कोर्ट के आदेश पर बीएमसी ने अपनी कार्यवाई तत्काल बन्द कर दी थी

आरटीआई एक्टिविस्ट शरद यादव ने बीएमसी से आवेदन कर बीएमसी से यह पूछा था कि उन्होंने किस वकील को नियुक्त किया है और उसने अभी तक इस प्रक्रिया में कितना खर्च किया ।

आरती के इस जवाब में बीएमसी द्वारा बताया गया कि पूरी कार्यवाई 82लाख 50 हजार रुपये फीस के रूप में वकील को अदा किए जा चुके हैं।

Download Law Trend App

Law Trendhttps://lawtrend.in/
Legal News Website Providing Latest Judgments of Supreme Court and High Court

Related Articles

Latest Articles