सुप्रीम कोर्ट में बार से सीधे नियुक्त हुई पहली महिला जज जस्टिस इंदु मल्होत्रा हुई रिटायर

नई दिल्ली—- सुप्रीम कोर्ट की जस्टिस इंदु मल्होत्रा कोर्ट में अपने अंतिम दिन बेहद भावुक होते हुए फेयरवेल स्पीच को अधूरे में ही छोड़ दिया। इस पर सीजेआई बोबडे ने कहा कि हम चाहेंगे कि इंदु मल्होत्रा किसी और मौके पर अपना भाषण पूरा करें। कोर्ट में अपने आखरी दिन में इंदु मल्होत्रा चीफ जस्टिस एस ए बोबडे के साथ बेंच पर बैठी थी। अटार्नी जनरल सहित देश भर के तमाम वरिष्ठ अधिवक्ता उन्हें विदाई देने के लिए मौजूद थे। 

अटार्नी जनरल वेणुगोपाल ने फेयरवेल मौके पर कहा कि यह एक विडंबना है कि अच्छे जज बहुत जल्दी सेवानिवृत्त हो जाते हैं। जजों के रिटायरमेंट की अवधि 70 वर्ष किये जाने की बात कहते हुए अटार्नी जनरल ने कहा उन्हें यहां कम से कम 10 साल और काम करना चाहिए था। यह बेहद दुखद है कि इस कोर्ट में जज 65 वर्ष की आयु में ही रिटायर हो जाते हैं। 

केवल यही नही वेणुगोपाल ने इस दौरान सबरीमाला केस की सुनवाई को भी याद किया। उन्होंने कहा कि इंदु मल्होत्रा ही वह जज थी। जिन्होंने अपने चार पुरुष सहयोगियों से अलग राय जाहिर की थी। इस मामले में 4 पुरुषों जजों ने महिलाओं को सबरीमाला मंदिर में प्रवेश करने की अनुमति देने की बात कही थी। जबकि जस्टिस इंदु मल्होत्रा ने इसके विरुद्ध राय दी थी। 

उन्होंने अपनी राय रखते हुए कहा था कि जब तक मामला असंवैधानिक न हो, तब तक धार्मिक मामलों में कोर्ट को दखल देने से बचना चाहिए। वेणुगोपाल ने उनकी जमकर तारीफ करते हुए कहा कि हम एक महान जज को अपने बीच से विदा कर रहे हैं। 

इंदु मल्होत्रा की मुकुल रोहतगी समेत अन्य वरिष्ठ वकीलों ने उनकी खूब तारीफ की। वहीं सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन के प्रेसिडेंट विकास सिंह ने कहा कि इंदु जी हमेशा से वकीलों के लिए एक प्रेरणा रही हैं। यहीं नही वरिष्ठ अधिवक्ता मुकुल रोहतगी, पी एस नरसिम्हा ,गोपाल शंकर नारायण समेत कई दिग्गज हस्तियों ने भी उनकी तारीफ में कसीदे कसी। 

यह भी पढ़ें

सीजेआई एस ए बोबडे ने उनके बारे में एक वाक्या सुनाते हुए जमकर तारीफ की, बोबडे ने कहा कि एक दौर में जब इंदु मल्होत्रा वकील थी। तो कोर्ट में बहस के दौरान रुक ही नही रही थी। 

सीजेआई बोबडे ने कहा कि कितनी तैयारी करके आती थी इंदु मल्होत्रा वह अपना पक्ष रख रही थी इसी दौरान वह रुक ही नही रही थी। इस दौरान मैंने अपने साथी जज से पूछा कि आखिर वह बंद क्यों नही हो रहीं। जबकि हम उनकी बात को समझ गए हैं। इस पर उन्हीने कहा कि इंदु मल्होत्रा पूरी तैयारी से आई हैं। और वह अपनी तरफ से पूरी बात रखना चाहती हैं। 

Download Law Trend App

Law Trendhttps://lawtrend.in/
Legal News Website Providing Latest Judgments of Supreme Court and High Court

Related Articles

Latest Articles