जज को मिली धमकी, परिवार वालों को जिंदा रखना है तो चुन्नीलाल को जमानत दो

उत्तरप्रदेश–रुहेलखंड के बरेली जनपद में न्यायाधीश को जान से मारने की धमकी देने का मामला प्रकाश में आया है । एक मामले में लिप्त आरोपी चुन्नीलाल को जमानत न देने पर जज और उनके परिवार वालों को गोली मारने की धमकी दी गई है। जज को भेजे गए पत्र में कहा गया है कि यदि परिवार को जिंदा देखना चाहते हो तो आरोपी की जमानत मंजूर कर दो।

एंटी करप्शन कोर्ट के प्रमुख न्यायाधीश को गोली मारने की धमकी देने का मामला सुर्खियों में है। पीतल नगरी मुरादाबाद के एक शख्स ने डाक के माध्यम से लेटर भेज अपर जिला जज को आरोपी की जमानत मंजूर करने की धमकी दी है। इस धमकी भरे पत्र में लिखा है कि अगर आरोपी किं जमानत मंजुर नहीं की तो जज और उनके फैमिली मेंबर को जान से मार दिया जाएगा।

जज ने हाईकोर्ट के महानिबंधक के आदेश पर नगर कोतवाली में मोहम्मद अहमद खान की तरफ से मामला दर्ज करवाया है। मुरादाबाद के स्थानीय गांव निवासी फहीम पाकिस्तानी की रिपोर्ट दर्ज कराई गई है। पुलिस महकमा पत्र भेजने वाले आरोपी की तलाश में छापेमारी कर रही है। कोर्ट में डाक के माध्यम से मिले पत्र को पेशकार ने स्पेशल जज मोहम्मद अहमद खान को दिखाया है। 

Read Also

जज को भेजे गए लेटर में जिक्र है कि वह आरोपी चुन्नीलाल का जिगरी दोस्त है। उसके कहने पर वह कंप्यूटर ऑपरेटर की हत्या भी कर चुका है। पत्र में धमकी देते हुए लिखा था कि अगर तुम्हें परिवार को जिंदा रखना है तो चुन्नीलाल की जमानत मंजूर कर दो। मैंने तुम्हारे सारे ठिकानों का पता लगा लिया है। किस खिड़की से गोली मारनी है सब तैयारी कर ली गई है। हमारी टीम 30 अक्टूबर से इस काम को अंजाम देने में लगी है।

इस धमकी भरे पत्र के अंतिम में उसने अपना नाम फहीम पाकिस्तानी लिखा है। स्पेशल जज मोहम्मद अहमद खान ने इस प्रकरण की शिकायत हाईकोर्ट के रजिस्ट्रार ,जिलाधिकारी और एसएसपी से की है।

कोतवाली पुलिस ने तहरीर मिलने पर फहीम पाकिस्तानी के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली है। 

आपको बता दें कि मुरादाबाद के कल्याण विभाग में क्लर्क के पद पर तैनात चुन्नीलाल पर 19 लाख रुपये की संपत्ति अर्जित करने का आरोप है। उसकी जमानत याचिका पर शनिवार को सुनवाई होनी है। 

जनपद बरेली के एसएसपी रोहित सिंह सजवान ने बताया है कि भ्रष्टाचार निवारण अदालत के स्पेशल जज को धमकी भरा पत्र भेजा गया है। इस मामले को गंभीरता से लेते हुए मुकदमा दर्ज कर आरोपी की तलाश शुरू कर दी गई है। जिस स्थान से पत्र को स्पीड पोस्ट से भेजा गया है वहां के सीसीटीवी फुटेज खंगाले जा रहे हैं।

Download Law Trend App

Law Trendhttps://lawtrend.in/
Legal News Website Providing Latest Judgments of Supreme Court and High Court

Related Articles

Latest Articles