Read Judgment बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में सभी अभियुक्त बरी


आज लखनऊ की विशेष अदालत ने बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में अपना फैसला सुनाया।

कोर्ट ने कहा बाबरी ढांचा ध्वंस की घटना पूर्व नियोजित नही थी

विशेष न्यायाधीश एस के यादव का कहना है कि लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी और अन्य नेताओं ने घटना के समय भीड़ को रोकने की कोशिश की।

इस मामले में भाजपा नेता श्री एल.के. आडवाणी, उमा भारती, श्री एम.एम. जोशी और तत्कालीन मुख्यमंत्री श्री कल्याण सिंहसहित कुल 32 आरोपी थे|

अदालत ने बीजेपी नेता भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, कल्याण सिंह, उमा भारती , महंत नृत्य गोपाल दास, साध्वी ऋतम्भरा, चम्पत राय, विनय कटियार, राम विलास वेदांती, महंत धरम दास, पवन पांडेय, ब्रज भूषण शरण सिंह, साक्षी महाराज,सतीश प्रधान, आरएन श्रीवास्तव, तत्कालीन डीएम, जय भगवान गोयल, रामचंद्र खत्री , सुधीर कक्कड़, अमरनाथ गोयल, संतोष दुबे, प्रकाश शर्मा, जयभान सिंह पवैया, धर्मेंद्र सिंह गुर्जर, लल्लू सिंह, वर्तमान सांसद, ओम प्रकाश पांडेय, विनय कुमार राय, कमलेश त्रिपाठी, गांधी यादव, विजय बहादुर सिंह, नवीन शुक्ला, आचार्य धर्मेंद्र, रामजी गुप्ता.समेत सभी आरोपियों को बरी कर दिया है ।


यह मुकदमा भारतीय दंड संहिता की धारा 120 बी,149, 147, 153-ए, 153-बी, 295-ए, 295, 505 के तहत चला था।

सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों के तहत ट्रायल कोर्ट ने मामले की सुनवाई दिन-प्रतिदिन के आधार पर की है और सुप्रीम कोर्ट के अंतिम आदेश के मद्देनजर आज फैसला सुनाया गया है।


केस की पूरी पृष्ठभूमि यहां पढ़ें

Download Law Trend App

Law Trendhttps://lawtrend.in/
Legal News Website Providing Latest Judgments of Supreme Court and High Court

Related Articles

Latest Articles