सीबीआई ने किया पीएम आवास योजना में 14 हजार करोड़ घोटाले का भंडाफोड़

नई दिल्ली—- सीबीआई ने प्रधानमंत्री आवास योजना से संबंधित 14 हजार करोड़ रुपयों के घोटाले का पर्दाफाश करते हुए इस मामले में आर्थिक संकटो से घिरी दीवान हाउसिंग फाइनेंस लिमिटेड के प्रमोटरों कपिल वधावन और धीरज वधावन के विरुद्ध मुकदमा भी दर्ज कर लिया है।

दोनों भाई वर्तमान में मनी लॉन्ड्रिंग और धोखाधड़ी के आरोपों में न्यायिक हिरासत में हैं। सीबीआई के अनुसार कपिल और धीरज ने 14000 करोड़ रुपयों से अधिक के फर्जी व काल्पनिक आवास कर मंजूर किए। साथ ही इसके लिए पीएमएवाई के तहत सरकार से 1880 करोड़ रुपये की ब्याज सब्सिडी हासिल कर ली। 

सीबीआई का कहना है कि दिसंबर 2018 में डीएचएफएल ने अपने निवेशकों को पीएमएवाई के तहत 88,651 आवास कर्ज जारी करने और इनके बदले सरकार से 539,4 करोड़ रुपयों की ब्याज सब्सिडी हासिल करने की जानकारी दी। डीएचएफएल ने निवेशकों से 1347,8 करोड़ रुपये की सब्सिडी बकाया होने की बात कही। 

हालांकि फोरेंसिक ऑडिट के उपरांत खुलासा हुआ कि कपिल और धीरज ने आवास कर्ज के लिए 2,6 लाख फर्जी अकॉउंट खोले थे। इनमे से अधिकांश खाते पीएमएवाई के तहत खोले गए और उन पर नियमो के तहत ब्याज सब्सिडी का दावा किया गया। घोटाला मुम्बई के बांद्रा स्थित डीएचएफएल शाखा में किया गया। 

Download Law Trend App

Law Trendhttps://lawtrend.in/
Legal News Website Providing Latest Judgments of Supreme Court and High Court

Related Articles

Latest Articles