अलग हुए पति पर बोझ मत बनो काबिल हो नौकरी करो: कोर्ट

राजधानी—- दिल्ली में एक घरेलू विवाद के चलते अलग रहने को मजबूर हुई पत्नी को नौकरी ख़ोजकर आत्मनिर्भर बनने की सलाह देते हुए कहा है कि पढ़ी लिखी हो इसलिए उसे घर पर बैठकर पति पर बोझ बनने की अपेक्षा नही की जा सकती।

अपने पहले के पति से गुजारा भत्ता मांग रही महिला अपने जीवन साथी की तुलना में अधिक शिक्षित है। शारिरिक तौर पर भी नौकरी करने में सक्षम है। यह सलाह न्यायाधीश रेखा रानी ने दी है ।

महिला ने भी इस बात को माना है कि वह आय अर्जित करने में सक्षम है। कोर्ट पूर्व पति की अपील पर सुनवाई कर रही है। इसमें ट्रायल कोर्ट के 12000 प्रतिमाह गुजारा भत्ता देने के आदेश को चुनौती दी गई है।

पूर्व पति ने अपनी अपील में कहा है कि महिला एमएससी गोल्डमेडलिस्ट है। वह आर्थिक मदद की हकदार नही है। उसने पत्नी को 1 साल तक 12 हजार प्रतिमाह देने की रजामंदी भी दे दी है। 

Download Law Trend App

Law Trendhttps://lawtrend.in/
Legal News Website Providing Latest Judgments of Supreme Court and High Court

Related Articles

Latest Articles