दुष्कर्म के आरोपी सेना के जवान को दस वर्ष की कैद

फास्ट ट्रैक कोर्ट की न्यायाधीश तनु भटनागर ने शादी का झांसा देकर शारीरिक संबंध बनाने वाले सेना कर्मी को दस वर्ष कैद की सजा सुनाते हुए 2.10 लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया है। जिसमे से दो लाख जुर्माने की रकम पीड़िता को दी जाएगी। वहीं सेना के जवान के भाई को दोषमुक्त कर दिया है। 

मामला-

कानपुर देहात के गजनेर थाना अंतर्गत ग्राम मुर्रा में अपनी मौसेरी बहन के घर इंटरमीडिएट की परीक्षा देने आई युवती की मुलाकात वर्ष 2012 में धनीराम सिंह के भाई सेना कर्मी महेश सिंह भदौरिया से हुई थी। महेश ने पीड़िता के घरवालों से मिलकर शादी की बात भी तय कर ली। 14 जनवरी 2014 को महेश युवती को लेकर अपने दूसरे भाई के घर अर्रा ले आया जहां पर उसने युवती के साथ दुष्कर्म किया और शादी का झांसा देकर हफ्ते भर यौन शोषण करता रहा।

युवती गर्भवती हो गई उसने उस पर शादी का दवाब बनाया तो महेश ने छुट्टी से वापस आने के बाद शादी की बात कही। जून 2014में जब महेश वापस लौटा तो उसने व उसके घरवालों ने दस लाख रुपये दहेज न देने पर शादी से इनकार कर दिया। युवती को उस वक्त सात माह का गर्भ था। इसी मध्य महेश ने 31 जुलाई को वंदना नाम की युवती से कोर्ट मैरिज कर ली ।

घटना के लगभग नौ माह बाद एसएसपी के आदेश पर नौबस्ता थाने मे महेश और उसके भाई के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज हुई । एडीजीसी इन्द्रलता शुक्ला और विनोद त्रिपाठी ने बताया कि कोर्ट ने महेश को सजा सुनाई जबकि भाई धनीराम को दोषमुक्त करार दिया है। 

Also Read

Download Law Trend App

Law Trendhttps://lawtrend.in/
Legal News Website Providing Latest Judgments of Supreme Court and High Court

Related Articles

Latest Articles