श्री कृष्ण जन्मभूमि विवाद में ASI से रेडीआलॉजी टेस्ट की मांग

उत्तरप्रदेश-काशी विश्वनाथ और ज्ञानवापि मशिद मामले में कोर्ट का फैसला आने के बाद मथुरा में श्री कृष्ण जन्मभूमि के बगल में बनी शाही मस्जिद को हटाने को लेकर कोर्ट में एक एप्लिकेशन दाखिल की गई है।

कोर्ट में दाखिल एप्लिकेशन के माध्यम से कहा गया है कि मथुरा स्थित कृष्ण जन्म भूमि के बगल में बनी शाही मस्जिद को हटाया जाए और आगरा में बनी जामा मस्जिद के नीचे भारतीय पुरातत्व विभाग द्वारा सर्वेक्षण कराया जाय। ताकि इससे इस बात की पुष्टि हो कि जामा मस्जिद के नीचे मथुरा से लाई गई श्री कॄष्ण की प्रतिमा को औरंगजेब ने दबा दिया था।

शैलेंद्र सिंह, अधिवक्ता ने बताया कि दिनांक 13.04.2021 को वाद संख्या 151/2021 -भगवान श्री कृष्ण विराजमान , द्वारा शैलेन्द्र सिंह एवं अन्य – बनाम उत्तर प्रदेश सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड एवं अन्य , मे न्यायालय, सिविल जज सीनियर डिवीज़न मथुरा के समक्ष आदेश 26 नियम 10-ए के अंतर्गत वैज्ञानिक अन्वेषण करने के लिए प्रार्थना पत्र प्रस्तुत किया गया।

जिसमें प्रार्थना की गयी है कि डायरेक्टर, भारतीय पुरातत्त्व सर्वेक्षण विभाग को वैज्ञानिक अन्वेषण करके प्रतिमाओं का उत्खनन कर उन्हें पुनः स्थापित करने का आदेश दें।

ऐप्लिकेशन में कहा गया है कि पुरातत्व की स्थापना एवं महत्ता देखते हुए भगवान श्री कृष्ण के गर्भग्रह की मूर्तियों के जामा मस्जिद मे गड़े होने के तथ्य को उजागर करना एवं इन मूर्तियों को अन्वेषित एवं उत्खनित करना ज़रूरी है।

इस बात की पुष्टि के लिए ASI को निर्देश दिया जाए कि वह आगरा की जामा मस्जिद के नीचे रेडीआलॉजी टेस्ट करे जिससे यह साफ हो सके कि जामा मस्जिद के नीचे श्री कृष्ण की मूर्ति है अथवा नही।

इस वाद मे अगली तारीख 10.05.2021 नियत कि गयी है।

Download Law Trend App

Law Trendhttps://lawtrend.in/
Legal News Website Providing Latest Judgments of Supreme Court and High Court

Related Articles

Latest Articles