इलाहाबाद हाईकोर्ट में श्री कृष्ण जन्मभूमि विवाद पर अहम सुनवाई आज

इलाहाबाद हाईकोर्ट (Allahabad High Court) में श्री कृष्ण जन्मभूमि मथुरा को लेकर दायर याचिका पर सोमवार को सुनवाई होगी। सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के वकील महक माहेश्वरी की तरफ से दाखिल याचिका की सुनवाई चीफ जस्टिस की अध्यक्षता वाली डिवीजन बेंच करेगी। इस याचिका में शाही ईदगाह मस्जिद को हिन्दुओं को सौंपने की मांग की गई है। 

जिससे उस जगह पर पुनः मंदिर का निर्माण कार्य किया जा सके। और साथ ही साथ याचिका के निपटारे तक जन्माष्टमी या सप्ताह के कुछ दिन ईदगाह मस्जिद के अंदर हिंदुओं को पूजा अर्चना करने की अनुमति भी मांगी गई है। 

इसके अलावा याचिका में कोर्ट की निगरानी के तहत विवादित भूमि पर खुदाई करने की मांग की गई है। और कहा गया है कि खुदाई की जांच रिपोर्ट अदालत में पेश की जाए। याचिकाकर्ता ने दायर याचिका में इस बात का दावा ठोका है कि जिस जगह पर शाही ईदगाह मस्जिद है। उसी जगह पर कारागार है जहाँ भगवान श्री कृष्ण का जन्म हुआ था। खुदाई से इस बात की पुष्टि हो जाएगी।

प्लेसेस ऑफ वर्सिप एक्ट को चुनौती-

इस दायर याचिका में देश मे स्थित धार्मिक स्थलों का स्वरूप 15 अगस्त 1947 के वक्त जैसा ही बनाए रखने का प्रवधान वाले कानून  प्लेसेस ऑफ वर्सिप एक्ट 1991 को भी चुनौती दी गई है। 1991 का यह कानून एक तरह से काशी,मथुरा में हिन्दुओं के मालिकाना हक के लिए कानूनी लड़ाई लड़ने से रोकता है। 

सुप्रीम कोर्ट की वकील महक माहेश्वरी याचिकाकर्ता ने बताया कि उन्होंने इलाहाबाद हाई कोर्ट से यह प्राथना की है कि ये उनका मौलिक अधिकार है की श्री कृष्ण जन्मभूमि प्रांगण में जहां पर अभी मस्जिद है उस जगह पहले श्री कृष्ण भगवान का मंदिर हुआ करता था। मुझे उस जगह पर प्राथना करने की अनुमति दी जाय। जो की मेरा मौलिक अधिकार है। आगे माहेश्वरी ने कहा कि अनुच्छेद 25 और 26 उसे कवर करता है। सरकार कोर्ट के माध्यम से मेरा यह अधिकार सुरक्षित करे।

Read Also

Law Trendhttps://lawtrend.in/
Legal News Website Providing Latest Judgments of Supreme Court and High Court

Related Articles

Latest Articles