पाकिस्तान ने की एक और गिरी हुयी हरकत, हिन्दू मंदिर पर हमला- सुप्रीम कोर्ट ने लिया संज्ञान

ख़बर पाकिस्तान के पंजाब प्रांत की है, जहां इस्लामिक कट्टरपंथीओ के एक झुण्ड ने, एक भव्य हिन्दू मंदिर पर बेरहमी से हमला कर दिया। हालात इतने बिगड़ गए कि पाकिस्तानी सेना को वहां तैनात करना पड़ा। फिर पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट भी हरकत में आयी, और इस मामले की जांच के लिए अधिकारियों को तैनात भी कर दिया। आइये इस मामले को विस्तार से जानते है। 

पीटीआई (Press Trust of India) के मुताबिक, घटना पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के रहीम खान यार जिले से जुड़ी हुयी है, जहां एक हिन्दू मंदिर स्थित है। बता दे कि यह गणेश मंदिर के नाम से प्रख्यात है, जो कि बहुत बड़ा और भव्य मंदिर है। यह मंदिर लाहौर से लगभग 590 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। 

शुक्रवार को लोग इस मंदिर में इकट्ठा होकर, पूरे रीती रिवाज़ के साथ, पूजा पाठ में मग्न थे कि तभी अचानक से हजारो संख्या में कट्टर इस्लामिक चरमपंथिओं के एक झुण्ड ने मंदिर पर हमला कर दिया और हिंसा करने लगे। 

पीटीआई के मुताबिक, उन इस्लामिक कट्टरपंथियों पहले मंदिर के साजो सामान में लगे झूमर और कांच के सामान को तोडना शुरू किया, फिर मंदिर में स्थापित हिन्दू देवी देवताओं की मूर्तियों को अपमानजनक तरीके से तोड़कर चकनाचूर कर दिया। वहां इकट्ठा हुए, श्रद्धालुओं के साथ भी बदसलूकी की गयी, ख़ास तौर से महिलाओं के साथ। 

Also Read

घंटों तक चली हिंसा और तोड़ फोड़ के बाद, उन इस्लामिक कट्टरपंथिओं ने मंदिर परिसर को भी आग के हवाले कर दिया। इस घटना में सबसे हैरान करने वाली बात वह ये थी कि पुलिस ने भी उन अराजकतावादियों की पूरी शिद्दत के साथ समर्थन किया। खबर यह भी आ रही है कि मंदिर के आस पास जितने भी हिंदू परिवार रहते है, उनकी भी जान को खतरा है। 

इमरान खान की पार्टी तहरीक-ए-इंसाफ के सांसद, रमेश कुमार वंकवानी ने इस घटना की शिकायत की। बाद में उनकी इस शिकायत पर पाकिस्तान सुप्रीम कोर्ट ने संज्ञान लिया और जांच के आदेश दिए। वंकवानी ने अपने ट्विटर हैंडल पर, इस घटना की विडियो शेयर की है, जहां इस्लामिक कट्टरपंथियों की बर्बरता साफ़ साफ़ दिख रही है। जानकारी के लिए बता दे कि इमरान सरकार के कार्यकाल में ऐसी कई अप्रिय घटना हो चुकी है, जहां गुरुद्वारे और मंदिरों पर ऐसे हमले हुए है। 

भारत सरकार ने इस घटना की कड़ी निंदा की है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची के  मुताबिक, भारत ने कड़े शब्दों में निंदा करते हुए, पाकिस्तान सरकार को यह अवगत कराया कि वहां कि सरकार अल्पसंख्यक हिंदू और सिक्खों की रक्षा करने में बिलकुल असफ़ल रही है। अल्पसंख्यकों पर ऐसी हिंसक घटनाये, दिन पर दिन बढ़ते जा रही है। जो कि एक चिंता का विषय है।  

Law Trendhttps://lawtrend.in/
Legal News Website Providing Latest Judgments of Supreme Court and High Court

Related Articles

Latest Articles