जहरीली शराब बेचना समाज के विरूद्ध गंभीर अपराध है: इलाहाबाद हाई कोर्ट

प्रयागराज-इलाहाबाद हाई कोर्ट ने जहरीली शराब से होने वाली मौतों पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा की पैसे की लालच में नकली शराब बेचने वाले लोगों के जीवन से खिलवाड़ कर रहे। ये न केवल पीड़ित बल्कि समाज के अपराधी है इन पर कड़ी कार्यवाई की जानी चाहिए। उक्त टिप्पणी जस्टिस सौरभ श्याम शमशेरी ने संगीता जायसवाल की जमानत अर्जी को खारिज करते हुए की।

कोर्ट के कहा है कि फूलपुर की अमिलिया देशी शराब ठेके से नकली शराब पीने से छह लोगों की म्रत्यु व दर्जनों लोगों की बीमार होने की घटना गंभीर है ।मंरने से बचे लोगों को आगे चल कर गंभीर बीमारियां हो सकती है। याचिकाकर्ता को महिला होने के कारण ऐसे अपराध में राहत नही दी जा सकती। जमानत पर पीड़ितों को धमकी देने की आशंका है। 

आबकारी निरीक्षक विजय प्रताप यादव ने फूलपुर थाने में एफआईआर दर्ज कराई है। इसमें अनुज्ञापी याची के पति श्याम बाबु जायसवाल व सेल्समैन सिंह को नकली शराब बेचने का आरोपी बनाया गया है। एफआईआर के मुताबिक 19 नवंबर 2020 को लोगों ने ठेके से शराब खरीदी। शराब पीने के उपरांत कई लोगों के बीमार पड़ने पर उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया। छह लोग मर गए और कई लोग गंभीर हुए,सूचना पाकर पुलिस मौके पर पहुँची और आसपास के लोगों के बयान के आधार पर प्राथमिकी दर्ज कराई। 

Read/Download Order

Law Trendhttps://lawtrend.in/
Legal News Website Providing Latest Judgments of Supreme Court and High Court

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest Articles