क्लैट परीक्षा के लिए कोरोना संदिग्ध छात्र को अलग कमरा प्रदान करेंः Supreme Court

हाल ही में, एक CLAT 2020 अभिलाषी छात्र ने Supreme Court का दरवाजा खटखटाया और कोर्ट से अनुरोध किया कि वह क्लैट परीक्षा केंद्र को निर्देशित करें की याची को एक अलग कमरा प्रदान किया जाए, ताकि वह परीक्षा के लिए उपस्थित हो सके, क्योंकि वह कोरोना संदिग्ध है।

Supreme Court में न्यायमूर्ति अशोक भूषण, न्यायमूर्ति आर सुभाष रेडी, न्यायमूर्ति एम आर शाह की बेंच ने छात्र को CLAT में अलग कमरे में बैठ कर परीक्षा देने की अनुमति दी

राकेश कुमार अग्रवाल बनाम नेशनल लॉ स्कूल ऑफ़ इंडिया यूनिवर्सिटी, बेंगलुरु, मामले के संक्षिप्त तथ्य इस प्रकार है-

वर्तमान मामले में याचिकाकर्ता एक क्लैट उम्मीदवार है और परीक्षा के लिए एक वैध एडमिट कार्ड रखता है। याचिकाकर्ता ने कहा कि याचिका दायर करने के समय, वह क्वारंटीन में है क्योंकि उसे कोरोना होने का संदेह है। याचिकाकर्ता ने आगे कहा कि वह अच्छे स्वास्थ्य में है और 28.09.120 को होने वाली परीक्षा के लिए उपस्थित होना चाहता है। ।

याचिकाकर्ता ने कहा कि उसके एडमिट कार्ड के अनुसार यदि कोई छात्र कोविड रोगी है, तो उसे एक अलग कमरा आवंटित किया जाएगा। हालांकि, एडमिट कार्ड में यह भी कहा गया है कि अगर कोई छात्र जो कोविड पॉजिटिव हैं या मेडिकल देखरेख में हैं या क्वारंटीन मंे है तो क्लैट परीक्षा में सम्मिलित नहीं हो सकता हैं।

Supreme Court से मॉंगी गयी राहत

याचिकाकर्ता ने कोर्ट से अनुरोध किया कि परीक्षा केंद्र को निर्देश दिया जाना चाहिए कि वे याचिकाकर्ता को एक पृथक कमरा प्रदान करें, जिससे कि वह परीक्षा के लिए उपस्थित हो सके।

Supreme Court का आदेश

सुप्रीम कोट ने निम्नलिखित निर्देश जारी किये –

  1. केंद्र अधीक्षक को छात्र को एक अलग कमरा प्रदान करना चाहिए ताकि वह परीक्षा के लिए उपस्थित हो सके।
  2. छात्र को अपने एडमिट कार्ड की एक प्रति केंद्र अधीक्षक को यथाशीघ्र उपलब्ध करानी चाहिए।
  3. अदालत ने आवेदक को निर्देश दिया कि वह परीक्षा केंद्र में प्रवेश करने वाला अंतिम छात्र होना चाहिए और परीक्षा समाप्त होने के बाद सबसे पहले केन्द्र से बाहर जायेगा।
  4. न्यायालय ने केंद्र अधीक्षक और मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देश दिया कि जरूरत पड़ने पर केंद्र में चिकित्सा कर्मचारी उपलब्ध कराएं।

Case Details:-

Title:- Rakesh Kumar Agarwalla Versus National Law School Of India University, Bengaluru 

Case No.  Miscellaneous Application No.1790/2020 in W.P.(C) No(s).1030/2020

Date Of Order:- 28.09.2020

Quorum : Hon’ble Mr. Justice Ashok Bhushan Hon’ble Mr. Justice R. Subhash Reddy Hon’ble Mr. Justice M.R. Shah
Advocates :– For Petitioner : Ms. Garima Prashad, AOR Mr. Sumit Chander, Adv. Mr. Vinay Kumar, Adv. Mr. Abhishek Kumar, Adv. Ms. Divya Srivastava, Adv. ;  For Respondent: Mr. K. Parameshwar, Adv.

Download Law Trend App

Law Trendhttps://lawtrend.in/
Legal News Website Providing Latest Judgments of Supreme Court and High Court

Related Articles

Latest Articles