पीड़िता के मेडिकल परीक्षा कराने से मना करने पर रेप के आरोपी की जमानत मंजूर

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने एक रेप के आरोपी को इस आधार पर जमानत दे दी है, क्योंकि पीड़िता ने मेडिकल परीक्षण करवाने से इनकार कर दिया था।

संक्षिप्त तथ्य

एफ.आई.आर. के अनुसार 06.04.2020 को अपराह्न लगभग 3 बजे, जब पीड़िता मैदान में थी, तो आरोपी ने उससे छेड़छाड़ की। पीड़िता की सूचना पर, धारा 504, 506 और 354 के तहत एफआईआर दर्ज करायी गयी।

धारा 161 और 164 सीआरपीसी के तहत बयान में, पीड़ित ने आवेदक के खिलाफ बलात्कार का आरोप लगाया। परन्तु पीड़िता ने मेडिकल जांच कराने से इनकार कर दिया।

एफआईआर दर्ज करने के चार दिन पहले। पीड़िता के पति और आवेदक के बीच लड़ाई हुई, जिसके संबंध में धारा 107, 116 सीआरपीसी के तहत कार्यवाही की गई।

अभियुक्त ने कहा कि पीड़ित के पति के साथ उसकी लड़ाई आवेदक के खिलाफ मामला दर्ज करने का कारण है।

अभियुक्त के वकील ने तर्क दिया कि आवेदक ने कथित अपराध नहीं किया है। उसे वर्तमान मामले में झूठा फंसाया गया है।

आवेदक के न्यायिक प्रक्रिया से भागने या गवाहों के साथ छेड़छाड़ करने की कोई संभावना नहीं है और मामले में, आवेदक को जमानत दी जा सकती है, आवेदक जमानत की स्वतंत्रता का दुरुपयोग नहीं करेगा।

आगे कहा गया कि आवेदक का कोई आपराधिक इतिहास नहीं है और 6.4.2020 से जेल में बंद है।

सरकारी वकील ने जमानत अर्जी का विरोध किया और कहा कि धारा 164 सीआरपीसी के तहत बयान में, पीड़िता ने आवेदक के खिलाफ बलात्कार का आरोप लगाया है, इसलिए, आवेदक जमानत का हकदार नहीं है।

इलाहाबाद उच्च न्यायालय का निर्णय

माननीय न्यायमूर्ति अली ज़मान ने तथ्यों और परिस्थितियों को देखते हुए और पीड़िता द्वारा उसकी मेडिकल जाँच कराने से इनकार करने के तथ्या और साथ ही पीड़िता के पति की आरोपी से लड़ाई को ध्यान में रखते हुए आरोपी की जमानत याचिका मंजूर की।

Case Details

Title: Dara Singh vs State of U.P.

Case No.:- CRIMINAL MISC. BAIL APPLICATION No. – 24702 of 2020

Coram: Hon’ble Ali Zamin,J.

Counsel for Applicant:- Radhey Shyam Singh

Counsel for Opposite Party:- G.A.

Law Trendhttps://lawtrend.in/
Legal News Website Providing Latest Judgments of Supreme Court and High Court

Related Articles

Latest Articles