गाड़ी पर जातिसूचक शब्द लिखवाना पड़ेगा महँगा

उत्तर प्रदेश-यूपी परिवहन विभाग ने जातिसूचक शब्द लिखे वाहन मालिकों पर नकेल कसने की तैयारी कर ली है। अब वाहनों पर जातिवाद नही चलेगा।

पीएमओ कार्यलय से आये निर्देश का अनुपालन करते हुए राज्य परिवहन विभाग ने जाति लिखे वाहनों को सीज करने के आदेश जारी कर दिए हैं। इन आदेशों के पीछे महाराष्ट्र के शिक्षक हर्षल प्रभु का लिखा लेटर है जिसमे उन्होंने कहा है कि यूपी में दौड़ते जातिवाद वाहनों को सामाजिक ताने बाने के लिए खतरा बताया है। 

उत्तर प्रदेश की सड़कों पर फर्राटा भरते बाइक,कार ,बस, ट्रक ही नही बल्कि ट्रैक्टर और ई रिक्शा तक पर ब्राह्मण,क्षत्रिय, जाट,यादव,मुगल,कुरैशी,पठान,गुज्जर जैसे अन्य जाती लिखी हुई दिख जाती है।

Read Also

मुम्बई के कल्याण निवासी शिक्षक हर्बल प्रभु ने पीएम मोदी से आईजीआरएस पर शिकायत की थी। पीएमओ ने यह शिकायत उत्तरप्रदेश सरकार को भेजी जिसके परिणामस्वरूप अपर परिवहन आयुक्त मुकेश चंद्र ने ऐसे वाहनों के खिलाफ अभियान चलाने का आदेश दिया है। 

राजधानी लखनऊ के आरटीओ विदिशा सिंह ने लखनऊ, उन्नाव ,रायबरेली, सीतापुर,हरदोई और लखीमपुर के चेकिंग दस्तों को निर्देश दिया है कि किसी भी तरह के वाहनों पर जातिसूचक शब्द लिखे होने पर धारा 177 के तहत चालान या वाहन सीज करने की कार्यवाही करें। 

आपको बता दें लखनऊ में मौजूदा समय मे दो पहिया और चार पहिया वाहनों की संख्या 25 लाख के करीब है। 

Download Law Trend App

Law Trendhttps://lawtrend.in/
Legal News Website Providing Latest Judgments of Supreme Court and High Court

Related Articles

Latest Articles