मास्क पहनने के तरीकों में करना होगा बदलाव, यदि नाक और मुँह दिख रहे तो होगी दंडात्मक कार्यवाही

चंडीगढ़-पंजाब एंड हरियाणा हाई कोर्ट ने साफ कर दिया है कि यदि कोई शख्स मास्क पहनकर नाक और मुँह को खुला छोड़ते हैं तो उनके विरुद्ध दंडात्मक कार्यवाई की जाय। साथ ही हरियाणा और चंडीगढ़ के निकाय व स्वास्थ्य अधिकारियों को लोगों को मास्क पहनना सुनिश्चित करने के लिए कदम उठाने का निर्देश दिया। 

कोर्ट ने स्पष्ट कर दिया है कि सार्वजनिक और निजी संस्थानों के प्रमुख अपने कर्मचारियों को उचित शिष्टाचार में मास्क पहनने के लिए जागरूक करेंगे। लापरवाही व खानापूर्ति से मास्क पहनकर मुँह और नाक को खुला रखने वालों के लिए दंडात्मक कार्यवाई के कोर्ट ने आदेश जारी किए हैं। उपरोक्त आदेश जस्टिस करमजीत सिंह की खंडपीठ ने कोरोना कि स्थिति के बारे में राज्य सरकार की व्यवस्था से संबंधित मुद्दे पर एक याचिका का निपटारा करते हुए पारित किया। 

कोर्ट के समक्ष राज्य सरकार की ओर से पेश अधिवक्ता ने बताया कि कोरोना के लिए उपायुक्त संबंधित पुलिस अधीक्षक के नेतृत्व में प्रत्येक जनपद में नोडल एजेंसियां बनाई गई हैं। जिसमे नगर निगम,नगर परिषद के एक प्रतिनिधि और सिविल सर्जन को भी शामिल किया गया है। यह भी तय किया गया है कि हर जिले में सचिव,कानूनी सेवा प्राधिकरण भी उक्त समिति के सदस्य होंगे। क्योंकि उन्हें कोविड 19 स्थिति से उत्पन्न कई शिकायतें मिलती हैं। हाई कोर्ट को भी यह आश्वासन दिया गया है कि प्रत्येक जिले में संकट के मद्देनजर, अगर आवश्यक हो तो प्रशासन की बैठक दैनिक आधार पर आयोजित की जाएगी।

Download Law Trend App

Law Trendhttps://lawtrend.in/
Legal News Website Providing Latest Judgments of Supreme Court and High Court

Related Articles

Latest Articles