शॉपिंग में ठगी तो शॉपकीपर के खिलाफ कर सकते है ऑनलाइन कंप्लेन

शॉपिंग का शौक रखने वालों के लिए केंद्र सरकार ने एक ऑनलाइन पोर्टल की शुरुआत की है 

जिसमें खरीददार दुकानदार द्वारा की गई किसी भी तरह की धोखाधड़ी की शिकायत दर्ज करा सकते हैं।

बीते वर्ष ही केंद्र सरकार ने कंज्यूमर एक्ट में बदलाव किया था 

जिसको की अब अमली जामा पहनाने का काम तेजी से शुरू कर दिया गया है। 

इसी को लेकर कंज्यूमर मंत्रालय ने E-DAAKHIL वेबपोर्टल को लांच कर दिया है 

जिसके जरिये ग्राहक घर बैठे ही किसी भी तरह की गड़बड़ी को लेकर दुकानदार के खिलाफ शिकायत दर्ज करा सकता है।

E-DAAKHIL

केन्द्र सरकार ने नए कस्टमर कानून को सुचारू रूप से लागू करने के लिए एक ई दाखिल (E-DAAKHIL) वेबपोर्टल को स्टार्ट किया है 

इस वेबपोर्टल के सहारे कस्टमर अपनी कंप्लेन को घर बैठे ऑनलाइन दर्ज कर सकता है।

इस पोर्टल पर फीस,शिकायत,अपील,और फीचर्स की सम्पूर्ण जानकारी उपलब्ध होगी। 

ये नए कंज्यूमर एक्ट का एक हिस्सा है। 

सन 1986 के बनाए हुए कानून को नया रूप देने के पीछे का मकसद यह है कि

विगत 24 वर्षों में हुए बदलाव में उन सबको सहेजते हुए उपभोक्ता के अधिकारों को  मजबूत बनाया जा सके 

उदाहरण के तौर पर पहले इस कानून में ऑनलाइन शॉपिंग वाली कंपनियां इसमे सम्मलित नही थी 

जो कि अब नए कानून में इनको भी जोड़ा गया है देखा गया है कि आज का युवा वर्ग समय के बदलाव के कारण ऑनलाइन शॉपिंग करने में ज्यादा रुचि लेते है।

नए कंज्यूमर एक्ट में भ्रमित एडवरटाइजिंग को लेकर साफ प्रावधान है 

लेकिन इन तमाम प्रावधान का असर तभी होगा जब इस कानून पर पूर्ण रूप से अमल किया जाएगा। 

इसलिए आपको इस नए कानून के बारे में आपको सम्पूर्ण जानकारी होनी चाहिए।

घर हो या बाहर एक क्लिक पर शिकायत और समाधान की सहूलियत

केन्द्र सरकार द्वारा इस नए कानून के पारित होने के बाद अब कंपनियों पर मामला दर्ज कराना आसान हो गया है। 

कंज्यूमर की शिकायत और समस्याओं को लेकर कंज्यूमर मंत्रालय ने ई दाखिल पोर्टल की शुरुआत की है यह कानून कंज्यूमर प्रोटेक्शन एक्ट 2019 का असर है 

इस पोर्टल द्वारा आप कहीं भी मौजूद हो केस फ़ाइल कर सकते हैं NCRDC  यानी कि con,दिल्ली, महाराष्ट्र आयोग को जोड़ा गया है। 

नासिक,पुणे अमरावती आयोग जुड़े हैं जल्द ही सभी राज्यों और जिलों को इसमें सम्मलित कर लिया जाएगा।

और इस पोर्टल से केस करना और केस का करंट स्टेटस जानना आसान हो जाएगा।

Download Law Trend App

Law Trendhttps://lawtrend.in/
Legal News Website Providing Latest Judgments of Supreme Court and High Court

Related Articles

Latest Articles