सुप्रीम कोर्ट में भारत की पहली महिला मुख्य न्यायधीश बनाने का वक्त आ गया है: CJI एस०ए० बोबडे

नई दिल्ली-न्यायपालिका में महिलाओं की सीमित भागीदारी के मध्य सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायधीशने कहा है कि अब महिलाओं के भारत का चीफ जस्टिस बनने का समय आ गया है।कोर्ट ने कहा कि महिला अधिवक्ता अक्सर घरेलू जिम्मेदारियों का हवाला देकर न्यायाधीश बनने से स्पष्ट इनकार कर देती हैं।

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि महिला एडवोकेट को जल्द जज बनना चाहिए ताकि वरिष्ठता क्रम में प्रधान न्यायाधीश के पद तक पहुँच सके।

सीजेआई एस ए बोबडे की विशेष पीठ ने हाई कोर्ट में अस्थायी जजों की नियुक्ति से जुड़े मामले सुप्रीम कोर्ट महिला अधिवक्ता संघ की ओर से दायर याचिका में जब मेन्शन किया जा रहा था की ये मामला हाई कोर्ट में महिला अधिवक्ताओं की नियुक्ति को लेकर है, तो मुख्य न्यायधीश ने कहा कि सिर्फ़ हाई कोर्ट में क्यूँ, अब समय आ गया है कि भारत को उसकी पहली मुख्य न्यायधीश मिले।

चीफ जस्टिस बोबडे ने यह भी कहा, अक्सर देखा जाता है कि जब महिला वकीलो को जज बनने का प्रस्ताव दिया जाता है,तो घरेलू जिम्मेदारियों और बच्चों की पढ़ाई का हवाला देकर जज बनने का प्रस्ताव ठुकरा देती है।

Download Law Trend App

Law Trendhttps://lawtrend.in/
Legal News Website Providing Latest Judgments of Supreme Court and High Court

Related Articles

Latest Articles