सादे कपड़ों में देखकर हाई कोर्ट ने वकील को लगाई फटकार

बॉम्बे हाई कोर्ट की नागपुर खंडपीठ के समक्ष ऑनलाइन सुनवाई के दौरान कोर्ट की मर्यादा और वेशभूषा का शिष्टाचार भूलकर सुनवाई में पेश होने वाले वकील को कोर्ट ने जमकर फटकार लगाई है।

मामला कुछ इस प्रकार है कि जस्टिस सुनील और जस्टिस अनिल की खंडपीठ में विविध प्रकरणों पर ऑनलाइन सुनवाई हो रही थी। मामले से संबंधित सभी पक्ष अपनी बारी आने पर कोर्ट में युक्तिवाद कर रहे थे।

इसी दौरान कोर्ट के समक्ष उच्च शिक्षा से संबंधित मामले पर एक छात्रा की याचिका सुनवाई के लिए आई। सुनवाई में याचिकाकर्ता छात्रा की तरफ से पेश एक वरिष्ठ अधिवक्ता और उनका सहायक वकील ऑनलाइन हाजिर हुए।

कुछ क्षणों बाद कोर्ट ने गौर किया कि सहायक वकील साधे कपड़ो में ही सुनवाई में शामिल हो गया। यह ध्यान में आते ही कोर्ट ने मामले की सुनवाई को विराम देते हुए वकील के वेशभूषा पर कड़ी आपत्ति जाहिर की।

आपको बताते चले कि ऑनलाइन सुनवाई के दौरान सभी अधिवक्ताओ को कोर्ट के शिष्टाचार और अपनी वेशभूषा का पूरा ध्यान रखना होता है। कोर्ट ने कहा है कि बिना नेक बैंड और सही वेशभूषा के कोई वकील सुनवाई में हाजिर कैसे हो सकता है?

वरिष्ठ अधिवक्ता ने अपने सहायक की गलती स्वीकारते हुए कोर्ट को बताया कि सुनवाई के पहले ही उन्होंने उसे सादे कपड़ों को लेकर टोका था, लेकिन समय के अभाव में वेशभूषा नही बदली जा सकी।

कोर्ट ने कहा कि वे सुनवाई में वेशभूषा के नियम से कोई समझौता नही करेंगे। जब तक वकील की वेशभूषा नही सुधरती वे इस मामले की सुनवाई ही नही करेंगे। संबंधित वकील को कोर्ट शिष्टाचार और वेशभूषा के महत्व का पाठ पढ़ाते हुए कोर्ट ने उसे जमकर लताड़ लगाई। 

Law Trendhttps://lawtrend.in/
Legal News Website Providing Latest Judgments of Supreme Court and High Court

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest Articles