बॉम्बे हाई कोर्ट की परमबीर की जनहित याचिका पर फटकार, कहा गृहमंत्री के खिलाफ एफआईआर क्यों नही की

महाराष्ट्र—- मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर को सुप्रीम कोर्ट के बाद बॉम्बे हाई कोर्ट से भी राहत नही मिली है। बॉम्बे हाई कोर्ट ने परमबीर की जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए परमबीर को सख्त लहजे में फटकार लगाते हुए कहा है ,गृहमंत्री अनिल देशमुख के विरुद्ध एफआईआर दर्ज क्यों नही की। साथ ही कहा कि पहले इस मामले में एफआईआर दर्ज कराएं उसके बाद ही जांच सीबीआई को सौंपी जा सकती है। 

चीफ जस्टिस दीपांकर दत्ता और जस्टिस जीएस कुलकर्णी की बेंच ने तल्ख अंदाज में कहा कि आप सामान्य शख्स नही है। पुलिस कमिश्नर रहे हैं। और कानून का भरपूर ज्ञान है। तब क्यों मौन रहे। आपने गृहमंत्री पर गंभीर आरोप लगाए हैं। उसी समय एफआईआर क्यों नही दर्ज कराई। चीफ जस्टिस ने कहा कि क्या कानून का पालन करना आपके लिए महत्वपूर्ण नही है। क्या पुलिस अधिकारी ,मंत्री और नेता कानून से बड़े है। 

दरअसल परमबीर सिंह ने महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख पर आरोप लगाया है कि उन्होंने पुलिस अधिकारी सचिन वाजे को हर माह 100 करोड़ रुपए की वसूली करने को कहा है। इसको लेकर परमबीर ने 25 मार्च को हाई कोर्ट में आपराधिक जनहित याचिका दाखिल की थी। हालांकि हाई कोर्ट ने परमबीर सिंह की याचिका पर फैसला सुरक्षित रख लिया है। 

Download Law Trend App

Law Trendhttps://lawtrend.in/
Legal News Website Providing Latest Judgments of Supreme Court and High Court

Related Articles

Latest Articles