पंचायत चुनाव के दौरान बूथ कैप्चरिंग और हत्या में शामिल 24 लोगों को उम्रकैद

बहराइच—- पंचायत चुनाव को बाध्य करने के लिए हत्या ,बलवा व मतपेटी लूटने इत्यादि अपराधों में सेशन जज ने 20 वर्षो बाद ऐतिहासिक निर्णय देते हुए 30 दोषियों को सश्रम आजीवन कारावास की सजा सुनाई है। मुकदमे के विचारधीन होने के दौरान छः अभियुक्तों की मौत हो जाने से उनके खिलाफ मुकदमे की कार्यवाही उपशमित कर दी गई। शेष 24 अभियुक्तों को न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेज दिया गया है। 

मामला—- आज से 20 वर्ष पूर्व 14 जून 2000 को विकासखंड विश्वेश्वरगंज की ग्राम पंचायत हरैया डोलकुआँ में पंचायत चुनाव में वोटिंग चल रही थी। इसी दौरान चुनाव को बाधित करने के लिए हथियारों से लैस 30 लोग मतदान केंद्र पर पहुँचकर फायरिंग करते हुए हथगोले फेककर मतपेटियों को लूट लिया। तत्पश्चात मतदान केंद्र के समीप एक घर मे जबरन घुसकर फायरिंग शुरू कर दी।

Also Read

घटना के दौरान गोली लगने से ग्रामीण रमेश तिवारी की मौके पर ही मौत हो गई थी। जबकि 7 अन्य लोग घायल हो गए थे। पुलिस ने इस गोलीकांड में 12 हमलावरों को गिरफ्तार किया था। इस प्रकरण में मृतक रमेश तिवारी के भाई कौशल किशोर ने विश्वेश्वरगंज थाने में 30 लोगों के विरुद्ध हत्या,बलवा, मतपेटियों के लूटने समेत कई मुकदमा दर्ज कराया था। मुकदमे की कार्यवाही अपर सत्र न्यायाधीश षष्ठम के न्यायालय में विचाराधीन थी। उसी मामले पर सुनवाई करते हुए सभी 30 दोषियों को सश्रम उम्रकैद की सजा सुनाई है। 

Download Law Trend App

Law Trendhttps://lawtrend.in/
Legal News Website Providing Latest Judgments of Supreme Court and High Court

Related Articles

Latest Articles