इंडियन मुजाहिदीन के 12 इंजीनियर आतंकियों को उम्रकैद

राजस्थान—-राज्य की एक कोर्ट ने आतंकी संगठन इंडियन मुजाहिदीन के 12 आतंकियों को उम्रकैद की सजा सुनाई है।लेकिन एक आतंकी को सबूतों के अभाव में बरी कर दिया गया। ये सभी आतंकी इंजीनियरिंग के छात्र थे और इंडियन मुजाहिदीन(आईएम) के स्लीपिंग सेल के तौर पर बम बनाने से लेकर हमलों के संभावित स्थलों की रेकी कर वहाँ का मैप तैयार करने का काम करते थे। 

राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी (एनआईए) ने वर्ष 2014 में राजधानी दिल्ली में आईएम के कुछ आतंकियों को गिरफ्तार किया था। उनसे मिली सूचना के आधार पर राजस्थान पुलिस की एटीएस और एसओजी ने जयपुर के झोटवाड़ा और प्रताप नगर और सीकर में दबिश देकर इंजीनियरिंग के 13 छात्रों को अरेस्ट किया था। जिनका जुड़ाव आईएम से था,यह आतंकी मॉड्यूल में स्लीपिंग सेल के तौर पर काम कर रहे थे। जिला जज उमाशंकर व्यास ने इनमे से 12 को दोषी ठहराया जबकि एक आरोपी के खिलाफ पर्याप्त सबूत न होने पर रिहा कर दिया। सरकारी अधिवक्ता 

लियाकत खान के अनुसार ढाई माह से चल रही बहस के बाद जिला जज ने निर्णय सुनाया है। उन्होंने आरोपियों को देश के खिलाफ युद्ध छेड़ने का प्रयास के तहत उम्रकैद की सजा सुनाई है। इस प्रकरण में छह अन्य सदस्यों को भी एसओजी ने नामजद किया था। इनकी गिरफ्तारी अभी तक नही हो सकी है। 

यह भी पढ़ें

पुलिस के मुताबिक इनमे से तीन आतंकिया के घरों सर भारी मात्रा में विस्फोटक सामग्री,डिटोनेटर इलेक्ट्रिक सर्किट व टाइमर भी बरामद किए गए थे। 

Download Law Trend App

Law Trendhttps://lawtrend.in/
Legal News Website Providing Latest Judgments of Supreme Court and High Court

Related Articles

Latest Articles