काला कोट पहन कोर्ट परिसर में घूमने वाले फर्जी वकीलों की धरपकड़ शुरू

मध्यप्रदेश-इंदौर जिला न्यायालय की तदर्थ कमेटी द्वारा फर्जी अधिवक्ताओं के विरुद्ध शुरू की गई मुहिम में अब तक आधा दर्जन से अधिक फर्जी वकीलों के नाम प्रकाश में आये हैं। लॉ की कोई डिग्री न होने के बाद भी लोग एडवोकेट बनकर न सिर्फ कोर्ट में काला कोट पहनकर घूमते थे बल्कि पक्षकारों से बड़ी बड़ी बात करके बरगलाते भी थे। ये कथित वकील दुर्घटना में घायल और उनके स्वजन से हॉस्पिटल में जाकर मिलते भी थे।

वह स्वम को क्लेम एडवाइजर बताकर उन्हें ज्यादा से ज्यादा क्लेम दिलाने का आश्वासन देते और बातों में उलझाकर उनसे वकालतनामें पर सिग्नेचर करवा लेते थे। बाद में ये फर्जी वकील मोटी रिकम ऐंठ कर वकालतनामा किसी वकील को सौंप देते थे। ये फर्जी एडवोकेट दुर्घटना में मृत व्यक्ति के परिवारिकजनो से पोस्टमार्टम विभाग में जाकर मिलते थे। तदर्भ कमेटी इन फर्जी अधिवक्ताओं के विरुद्ध पुलिस कार्यवाई करने की तैयारी कर रही है। 

Also Read

आपको बताते चलें कि जिला कोर्ट की तदर्थ कमेटी को लगातार शिकायत मिल रही थी कि कुछ लोग जिनके पास वकालत की डिग्री भी नही है वह वकील बनकर पक्षकारों से मिलते है। ऐसे लोगों में से ज्यादातर क्लेम एडवाइजर बनकर लोगों से मिलते हैं। ये लोग हॉस्पिटलों में घायलों से और पोस्टमार्टम हाउस के बाहर मृतक के स्वजन से मिलते है। और क्लेम केस दायर करने के नाम पर किसी तरह उनसे वकालतनामें पर हस्ताक्षर करवा लेते है। बाद में इस वकालतनामें को दूसरे वकील को ट्रांसफर कर देते है। लगातार शिकायते मिलने के बाद तदर्भ कमेटी ने इस बाबत कार्यवाई करते हुए ऐसे फर्जी वकीलों की धरपकड़ के लिए मुहिम शुरू की। 

Download Law Trend App

Law Trendhttps://lawtrend.in/
Legal News Website Providing Latest Judgments of Supreme Court and High Court

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest Articles