पंजाब हाईकोर्ट को मिले 19 नए वरिष्ठ अधिवक्ता, लेकिन पूरी करनी होगी ये शर्त

चंडीगढ़–पंजाब एंड हरियाणा हाई कोर्ट को 19 नए वरिष्ठ अधिवक्ता मिले हैं। 27 शॉर्टलिस्ट किये गए वकीलों में से 18 को वोटिंग के माध्यम से चुना गया है। साथ ही रिटायर्ड जज की धर्मपत्नी बलजीत कौर को वोटिंग से बहुमत मिलने पर वरिष्ठ अधिवक्ता चुना गया।

बलजीत कौर मान सहित 2 महिला एडवोकेट को वरिष्ठ वकील बनाया गया। मालूम हो कि 27 वकीलों को सीनियर एडवोकेट का पद दिए जाने के लिए शॉर्टलिस्ट करने के पश्चात बुधवार को फ़ुल कोर्ट मीटिंग में इन नामों पर सहमति नही बन पाई थी।

ऐसे में आवेदन करने वाले सभी 113 अधिवक्ताओं के नाम पर वोटिंग कराने का फैसला लिया गया था। अब वोटिंग के बाद 19 वरिष्ठ वकीलों का चयन हुआ।

113 अधिवक्ताओं ने पंजाब एंड हरियाणा हाई कोर्ट की कमेटी के समक्ष सीनियर एडवोकेट बनाए जाने के लिए अपनी दावेदारी जताई थी। इनमे से मंगलवार को 27 वकीलों को शॉर्टलिस्ट किया गया था।

इसके बाद बुधवार को हाई कोर्ट की फुल कोर्ट मीटिंग में इन पर आम सहमति नही बन पाई थी। गुरुवार को वोटिंग के माध्यम से इस पर फैसला लिया गया।

चुने गए वकीलों के नाम-

जिन वकीलों को वोटिंग के जरिये चुना गया है उनमें चंडीगढ़ प्रशासन के सीनियर स्टैंडिंग कॉउन्सिल पंकज जैन,सीबीआई के एडवोकेट सुमित गोयल, गुरिंदर सिंह, अमित झांजी, गुरुशरण कौर,अमित जैन, आशीष चोपड़ा, हरप्रीत सिंह, बलतेज सिंह, विनोद शर्मा, पवन कुमार,जगमोहन बंसल, गौरव चोपड़ा, जयवीर यादव, राकेश नेहरा, नरेश सिंह शेखावत, त्रिभुवन दहिया, और राजविंदर सिंह शामिल है।

शर्त

सभी 19 अधिवक्ताओं को इस शर्त के साथ वरिष्ठ अधिवक्ता बनाया गया है कि वो साल में काम से काम 10 मुक़दमे मुफ़्त में करेंगे।

Law Trendhttps://lawtrend.in/
Legal News Website Providing Latest Judgments of Supreme Court and High Court

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest Articles